बिहार

जीतन राम मांझी ने दी बिहार सरकार को धमकी और बीजेपी को नसीहत

पटना: शराबबंदी के समर्थन में 21 जनवरी को आयोजित होने वाली मानव श्रृंखला में शामिल होने को लेकर एनडीए गठबंधन में फूट पड़ती नजर आ रही है.

हिंदुस्तान आवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने इस मानव श्रृंखला का बहिष्कार करने की घोषणा की है. उन्होंने शराबबंदी कानून को तालिबानी फरमान कहने वाले भाजपा नेताओं के मानव श्रृंखला में शामिल होने के निर्णय की आलोचना की है.

गया में मीडिया से बात करते हुए जीतनराम मांझी ने कहा कि इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बयान को गलत संदर्भ मे पेश किया जा रहा है. मांझी के मुताबिक प्रधानमंत्री ने नशाबंदी की बात कही थी पर उन्हें शराबबंदी के समर्थन के रूप में प्रचरित किया जा रहा है.

जीतनराम मांझी ने कहा कि मौजूदा शराबबंदी कानून के तहत 20 हजार से ज्यादा गरीब लोगों को सिर्फ दारू पीने के आरोप में जेल भेज दिया गया है जबकि अवैध कारोबार करने वाले माफिया मोटी रकम देकर छूट जा रहे हैं.

ऐसे में शराबबंदी कानून के मौजूदा स्वरूप में बदलाव किये बिना उसका समर्थन करना न्यायोचित नहीं है. मालूम हो कि बिहार बीजेपी ने इस मानव श्रृंखला का समर्थन करने की घोषणा कर रखी है.